दीपक पुनिया जी का जीवन परिचय- Deepak Punia biography in hindi

हमारे भारत में ऐसे बहुत से रतन है जो अपने भारत का नाम रोशन करने के लिए कुछ को तैयार रहते हैं। ऐसा ही एक भारत का उभरता हुआ रतन जो हरियाणा के बहादुरगढ़ में स्थित छारा गांव के रहने वाले हैं, उनका नाम है दीपक पुनिया। भारत का नाम टोक्यो ओलंपिक 2020 में रोशन करने वाले दीपक पुनिया कौन है? यदि आप भी दीपक पुनिया के बारे में जानने के लिए यहाँ आये है।

Image Source – Google | Image by – Aditi

तो आज हम आपको Deepak Punia Biography in Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे और Deepak Punia Details आपको बताएँगे। तो चलिए शुरू करते है-

साक्षी मलिक की जीवनी (Biography Of Sakshi Malik)

दीपक पुनिया की जीवनी , उम्र, फैमिली, नेट वर्थ, कॉमनवेल्थ 2022 , मैडल ( Deepak Punia Biography in Hindi)

पूरा नामदीपक पुनिया
निक नेमदीपक
प्रोफेशनफ्री स्टाइल रेसलर
जन्मतिथि19 अप्रैल 1999
उम्र23 साल
जन्म स्थानझज्जर, हरियाणा
पिता का नामसुभाष पूनिया
माता का नामकृष्णा पूनिया
शौकबॉडीबिल्डिंग
होमटाउनहरियाणा
धर्महिंदू
जातिजाट
कोच का नामसतपाल
नेशनलिटीभारतीय
पत्नी का नामNa
गर्लफ्रेंड का नामNa
बालों का रंगकाला
आंखों का रंगकाला
हाइट6 फुट 1 इंच
वजन86 किलोग्राम

दीपक पुनिया का जन्म और उनका प्रारंभिक जीवन (Birth and Early Life)

एक छोटी सी डेयरी चलाने वाले पिता का बेटा टोक्यो ओलंपिक में अपना नाम रोशन कर रहा है जिनका नाम है दीपक पुनिया 2 बेटियों के बाद 19 अप्रैल 1999 में हरियाणा के झज्जर में दीपक पुनिया का जन्म हुआ। जो बचपन से ही कुश्ती की तरफ रुचि रखता था।

जिसके चलते 5 वर्ष की उम्र से ही उसने कुश्ती को अपना लक्ष्य साधते हुए आने वाले भविष्य की तैयारी शुरू कर दी। 7 साल की उम्र तक तो उन्होंने पुष्टि के काफी सारे दांव पर सीख लिए थे और आसपास के लोगों ने उनकी कुश्ती की प्रतिभा के लिए जानने पहचानने भी लगे थे।

बजरंग पूनिया का जीवन परिचय | Biography Of Bajrang Puniya In Hindi

दीपक पुनिया की शिक्षा और ट्रेनिंग (Education and Training)

गांव के एक मध्यम वर्गीय परिवार में जन्म लिए दीपक पुनिया कुश्ती से बेहद प्यार करते थे। वहीं के एक छोटे से स्कूल में उनकी प्रारंभिक शिक्षा पूरी हुई अपने स्कूल के दिनों में भी वे दंगल कुश्ती जैसे प्रतियोगिता में भाग अक्सर लिया करते थे।

उनका सपना था इंटरनेशनल लेवल पर खेलकर अपने देश के लिए मेडल लाना और भारत का नाम दूसरे देशों में उज्जवल करना। इसी के चलते उन्होंने अपनी बेहतर ट्रेनिंग के लिए छत्रसाल स्टेडियम के फेमस रेसलर गुरु सतपाल जी को आगे की ट्रेनिंग के लिए चुन लिया दीपक ने वर्ल्ड कैडेट चैंपियनशिप इमेज अपनी प्रतिभा दिखाई लेकिन उसमें उन्हें जीत नहीं मिली लेकिन फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी।

दीपक पुनिया के करियर की शुरुआत

साल 2015 में छत्रसाल स्टेडियम के जाने-माने पहलवान के नेतृत्व में ट्रेनिंग शुरू करने के बाद उन्होंने सबसे पहले वर्ल्ड कैडेट चैंपियनशिप का हिस्सा बनकर अपना हुनर दिखाया हालांकि सफलता नहीं मिली परंतु फिर भी हार नहीं मानी।

उसी साल उन्होंने सब जूनियर विश्व चैंपियनशिप में भी अपना हुनर दिखाने के लिए आगे बढ़े और विश्व जूनियर चैंपियनशिप में उन्होंने 3 बार हिस्सा लेकर तीनों बार मेडल हासिल किया।

एशियाई जूनियर चैंपियनशिप साल 2018 के दौरान दीपक पुनिया ने फिर से अपने हुनर का प्रदर्शन भारत देश की तरफ से किया और भारत देश के सम्मान में गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया.

इसी वर्ष विश्व जूनियर चैंपियनशिप के हिस्सा बनकर उन्होंने रजत पदक को अपने नाम कर लिया था। साल 2019 में भी एशियाई चैंपियनशिप के दौरान अपने बेहतरीन प्रदर्शन के चलते उन्हें कांस्य पदक से नवाजा गया।

उनकी प्रतिभा को देखते हुए उसी साल कजाकिस्तान के नूरसुल्तान ने उन्हें विश्व चैंपियनशिप 2019 में हिस्सा बनने के लिए न्यौता दिया लेकिन उनकी बदकिस्मती थी कि वह अपने टखने में लगी चोट की वजह से वहां नहीं जा पाए।

Achinta Sheuli Biography In Hindi

दीपक पुनिया के अगला मैच:

आने वाली ५ अगस्त को रैपेचेज और मेडल मैच 86 किलोग्राम फ्रीस्टाइल कुश्ती के लिए होने वाला है जिसमें दीपक पुनिया भाग लेने वाले हैं। 86 किलोग्राम फ्रीस्टाइल कुश्ती के अंतर्गत पदक जीतने के लिए 16 पहलवान शरीक किए जाएंगे। नाइजीरिया के पहलवान एकरेकेमे एगीयोमोर के विरुद्ध पहलवान दीपक पुनिया भारत की तरफ से कुश्ती का प्रदर्शन करेंगे। भारत के लोग दीपक पुनिया की जीत की कल्पना इस मैच से लगाए बैठे हैं।

दीपक पुनिया के मेडल एवं पुरस्कार :

दीपक को कुश्ती में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के कारण भारत सरकार द्वारा साल 2021 में अर्जुन अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है।

वर्ष (Year),  खेल (Event), स्थान (Spot),  मेडल (Medal)

2022 – कॉमनवेल्थ गेम्स, बर्मिंघम इंग्लैंड – गोल्ड मेडल

2021 – एशियाई चैंपियनशिप, अल्माटी (कजाखस्तान), सिल्वर मेडल

2020 – एशियाई चैंपियनशिप, नई दिल्ली (भारत), ब्रान्ज मेडल

2019 – विश्व जूनियर कुश्ती चैंपियनशिप, तेलिन (एस्टोनिया), गोल्ड मेडल

2019 – विश्व चैंपियनशिप, – नूर सुल्तान ( कजाखस्तान) – सिल्वर मेडल

2018 – एशियाई जूनियर चैंपियनशिप, नई दिल्ली (भारत)- गोल्ड मेडल

2018 – विश्व जूनियर कुश्ती चैंपियनशिप नाव (स्लोवाकिया) , सिल्वर मेडल

2016-विश्व कैडेट चैंपियनशिप, त्बिलिसी (जॉर्जिया), गोल्ड मेडल

दीपक पुनिया कॉमनवेल्थ गेम 2022 (Deepak Punia Commonwealth game 2022)

Deepak Punia vs Muhammad Inam: दीपक पुनिया कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 (Commonwealth Games 2022 ) में पुरुषों की 86 किलोग्राम भारवर्ग कुश्ती के फाइनल में पाकिस्तान के पहलवान मुहम्मद इनाम को 3-0 से हराकर भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता हैं। दीपक ने पाकिस्तान के पहलवान का खाता तक नहीं खुलने दिया था।

दीपक पुनिया की नेट वर्थ (Deepak Punia Net Worth and Prizes Money)

दीपक पूनिया खेल जगत मे अपना काफी नाम कर रहे है जिसके कारण इन्हे कई तरह के इनाम भी मिल रहे है। भारत सरकार की तरफ से भी दीपक को कई धनराशि मिली है। लोगों का कहना है की  दीपक पुनिया के 5 करोड़ की संपत्ति है। हालांकि इनके नेटवर्थ से संबन्धित पूरी जानकारी नहीं मिल पायी है।

Jeremy Lalrinnunga Biography

दीपक पुनिया एवं बजरंग पुनिया (Deepak Punia and Bajrang Punia) : –

दीपक पुनिया के नाम के साथ पुनिया लगा होने की वजह से बहुत से खेल प्रेमी उन्हें बजरंग पुनिया का भाई समझते हैं। खेल प्रेमियों को यह गलतफहमी इन दोनों के समान गोत्र और खेल एक होने के कारण हो रही है। परन्तु सच यह है कि ये दोनों भाई नहीं हैं।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने Deepak Punia biography in hindi के बारे में विस्तार से जाना है और दीपक पूनिया का जीवन परिचय जानकर आपको कैसा लगा, नीचे कमेंट कर के जरूर बताएं। यदि आप कोई सवाल पूछना चाहते है तो कमेंट बॉक्स में कमेन्ट कर सकते है।

FAQ :

  1. दीपक पुनिया का जन्म जन्म कब हुआ था ?

    19 अप्रैल 1999

  2. दीपक पुनिया की उम्र कितनी है ?

    २२ साल

  3. दीपक पुनिया कहाँ के रहने वाले हैं ?

    झज्जर , हरियाणा

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap