What is Share Market in hindi 2022

नमस्कार दोस्तों, आज के इस लेख में हम शेयर मार्केट के बारे में बात करेंगे और जानेंगे की शेयर मार्केट क्या है और कैसे काम करता है। कृपया इस लेख को अंतिम तक अवश्य पढ़ें।

शेयर बाजार क्या है? (What is Share Market?)

शेयर बाजार जानने से पहले हम जानेंगे कि बाजार क्या होता है। बाजार वह होता है जहां पर सामान खरीदे एवं बेचे जाते हैं उसी तरह यह शेयर बाजार भी है। शेयर बाजार में सामान की जगह शेयर खरीदे एवं बेचे जाते हैं।

जब किसी कंपनी को पूंजी की जरूरत होती है तो वह अपने कंपनी का शेयर मार्केट में बेचने के लिए जारी करता है या निकालता है इसे ही शेयर मार्केट कहा जाता है। इस शेयर मार्केट में शेयर खरीदने के लिए बोली लगाई जाती है और जो भी उस के शेयर सबसे अधिक दामों पर खरीदता है उन्हें ही यह शेयर सबसे पहले प्राप्त होता है।

जब भी आप किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो आपको उस कंपनी की कुछ हिस्सेदारी मिल जाती है और आप उस कंपनी के बैठक में भी शामिल हो सकते हैं।

पहले के समय में शेयर की नीलामी  मौखिक रूप से की जाती थी। यानी कि लोग शेयर बाजार में जाते थे और वहां पर बोल-बोलकर शेयर खरीदते थे।  लेकिन अब यह काम इंटरनेट द्वारा किया जाता है। आज के समय में लोग कहीं भी बैठकर कंप्यूटर के द्वारा शेयर खरीद एवं बेच सकते हैं।

सरल शब्दों में कहा जाए तो जहां पर कंपनी अपने शेयर बेचने के लिए जारी करती है उसे ही शेयर बाजार या Share Market कहा जाता है।

शेयर मार्केट के प्रकार (Types of Share Market).

शेयर बाजार मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं।

प्राथमिक और द्वितीयक बाजार।

  1. प्राथमिक शेयर मार्केट (Primary Share Market)

    प्राथमिक शेयर बाजार वह बाजार होता है जहां पर कंपनी पहली बार अपने शेयर को बेचने के लिए तथा धन जुटाने के लिए अपने आप को रजिस्टर करती है। बिना प्राथमिक शेयर मार्केट में रजिस्टर किए कंपनी अपने शेयर को शेयर बाजार में नहीं उतार सकती। इस प्रक्रिया को स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टिंग के रूप में जाना जाता है।


एक कंपनी पूंजी जुटाने के लिए प्राथमिक शेयर बाजारों में प्रवेश करती है। जब कंपनी अपने शेयर को बाजार में पहली बार बेचने के लिए जारी करती है तो इससे IPO (initial Public Offering) कहा जाता है। प्राथमिक शेयर बाजार में कंपनियां अपनी सिक्योरिटी जारी करती है। इन सिक्योरिटीज में बिल, नोट और बॉन्ड आदि शामिल होते हैं।


कंपनी के प्रथम रजिस्ट्रेशन तथा सिक्योरिटीज जारी करने की प्रक्रिया SEBI( भारतीय सिक्योरिटीज और विनिमय बोर्ड) के निगरानी में की जाती है।

उदाहरण – मान लीजिए कि जोमैटो धन जुटाने के लिए अपने शेयर जारी करना चाहता है। तो जोमैटो अपने शेयर को जारी करने के लिए एक अंडर राइटिंग कंपनी की मदद लेगा। वह अंडर राइटिंग कंपनी सबसे पहले जोमैटो के शेयर का  वैल्यूएशन चेक करती है और देखती है कि एक शेयर का दाम कितना हो सकता है। उसके बाद वह सारे शेयर के कीमतों का भुगतान जोमैटो को कर देगी। अब अंडरराइटिंग कंपनी कई ब्रोकर जैसे- Grow app, Upstock, zeerodha इत्यादि के माध्यम से उन शेयर को बाजार में जारी करेगी।  जिसे लोग खरीदेंगे यह सारी प्रक्रिया SEBI के निगरानी में किए जाएगी। इसे ही प्राथमिक शेयर मार्केट कहा जाता है।

  • द्वितीयक शेयर मार्केट (Secondary Share Market)

    प्राथमिक बाजार में खरीदे गए शेयरों को द्वितीयक बाजार में बेचा जा सकता है।  द्वितीयक बाजार एक्सचेंज ट्रेडेड मार्केट के माध्यम से संचालित होता है।
    अब जिन्होंने भी कंपनी के शेयर में पैसे लगाए होते हैं वह उन शेयरों को पब्लिक में ही खरीदते एवं बेचते रहते हैं इसे ही द्वितीयक बाजार कहा जाता है। द्वितीयक बाजार में शेयर को बाजार के मौजूदा मूल्यों पर बेचा जाता हैं। जैसे-  यदि किसी कंपनी का शेयर का मूल्य आज ₹10 है तो यह शेयर ₹10 में बिकेगा और यदि कल उन शेयर का मूल्य ₹20 हो जाता है तो शेयर ₹20 में बिकेगा।

    उदाहरण– जैसे हमने आपको बताया कि प्राथमिक बाजार में कंपनी पहली बार बाजार में अपने शेयर जारी कर देती है। अब जोमैटो स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट कर दी जाएगी और जोमैटो का शेयर पब्लिक में जारी कर दिया जाएगा। अब सभी पब्लिक जोमैटो के शेयर को आपस में खरीदती तथा बेचती रहेगी।

    सरल शब्दों में हम समझ सकते हैं कि कंपनी सबसे पहले अपने शेयर प्राथमिक शेयर बाजार में जारी करती है और सबसे पहले SEBI द्वारा किसी भी कंपनी का रजिस्ट्रेशन किया जाता है। जब यह कंपनी का शेयर लोगों के बीच में बट जाता है। तो कंपनी स्टॉक एक्सचेंज की लिस्ट में शामिल हो जाती है और द्वितीयक बाजार के माध्यम से लोग शेयर की खरीद एवं बिक्री कर सकते हैं।

शेयर मार्केट क्यों महत्वपूर्ण है? (Why is Share Market important?)

शेयर बाजार कंपनी तथा शेयर खरीदने वालों दोनों के लिए ही बहुत ज्यादा मायने रखता है। शेयर बाजार के ही निगरानी में सभी शेयरों की खरीद एवं बिक्री की जा सकती है। आईए शेयर मार्केट की महत्व को समझते हैं।

  • कंपनियों को पूंजी जुटाने में तथा शेयर को बाजार में जारी करने में सहायता करने में शेयर बाजार एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • शेयर बाजार के माध्यम से ही कंपनियां पहली बार (IPO) अपने शेयर को बाजार में जारी कर सकती हैं।
  • कंपनी आईपीओ के बाद स्टॉक एक्सचेंज की लिस्ट में हो जाती है और इससे आम आदमी को भी कंपनी में निवेश करने का मौका मिलता है।
  • आप शेयर बाजार में व्यापारी या निवेशक हो सकते हैं। व्यापारी थोड़े समय के लिए स्टॉक रखते हैं जबकि निवेशक लंबी अवधि के लिए स्टॉक रखते हैं। बाजार की मदद से आप अपने वित्तीय जरूरतों के अनुसार शेयर की खरीद एवं बिक्री कर सकते हैं।
  • कंपनी में निवेशक इस निवेश का उपयोग अपने जीवन के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए कर सकते हैं। शेयर बाजार निवेश के लिए प्रमुख प्लेटफार्मों में से एक है क्योंकि यह तरलता प्रदान करता है उदाहरण के लिए, आप जरूरत के आधार पर कभी भी शेयर खरीद या बेच सकते हैं। यानी वित्तीय संपत्तियों को कभी भी नकदी में बदला जा सकता है।

शेयर मार्केट में कुल कितनी कंपनियां हैं?

शेयर मार्केट में कुल कितनी कंपनियां है यह शेयर स्टॉक एक्सचेंज से पता चलता है। जैसे कि हमने आपको बताया कि किसी भी कंपनी को अपना शेयर जारी करने के लिए पहले अपने कंपनी का रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है। देश में दो बड़े-बड़े स्टॉक एक्सचेंज है जहां पर कंपनियों का रजिस्ट्रेशन किया जाता है। इन स्टॉक एक्सचेंज का नाम बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( NSE) है।
बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लगभग 5000 कंपनियां शामिल है और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में लगभग 2000 कंपनियां शामिल हैं। इसलिए यह कहा जा सकता है कि भारतीय शेयर मार्केट में कुल 7000 कंपनियां शामिल हैं। 

शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए?(How to earn from Share Market?)

सबसे अधिक पूछा जाने वाला प्रश्न यही है कि शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाएं तो आइए जानते हैं कि शेयर मार्केट से पैसे कमाने के लिए हमें क्या करना पड़ेगा तो इसके लिए हमे बहुत ही सावधानी बरतनी पड़ती है और सही तरीके से शेयर को खरीदना पड़ता है ताकि हमें ज्यादा नुकसान ना झेलना पड़े और प्रॉफिट भी हो सके।

  • शेयर बाजार से पैसे कमाने से पहले हमें शेयर बाजार को समझना पड़ता है क्योंकि यदि हमें शेयर बाजार की जानकारी नहीं होगी तो हमें काफी नुकसान हो सकता है।
  • शुरुआत में शेयर में कम पैसे निवेश करके शुरुआत करें जब आपको अनुभव हो जाए और उस कंपनी के बारे में सभी जानकारी आपको पता हो तभी आप अपने निवेश को बढ़ाएं।
  • जब भी शेयर मार्केट में पैसा लगाएं तो किसी भी एक सेक्टर में निवेश ना करें हमेशा अलग-अलग सेक्टर में निवेश करें आगे चलकर आपको यह नजर आ पाएगा कि कौन सा सेक्टर से आपको अधिक कमाई हो सकती है उसके बाद आप उस सेक्टर में अधिक पैसे लगा सकते हैं।
  • शेयर बाजार बहुत ही जोखिम भरा होता है। इसमें कभी भी तेजी आ जाती है तो कभी भी गिरावट आ जाती है इसलिए हमें हमेशा शेयर बाजार के बारे में अपडेट रहना चाहिए। अगर शेयर बाजार कभी भी नीचे गिरता है तो आप उसमें तुरंत पैसे निवेश कर सकते हैं और जब भी शेयर बाजार में तेजी आती है तो आप उन शेयर को भेज सकते हैं।
  • कभी-कभी शेयर बाजार में धीरे-धीरे तेजी आती है और लोग अपना धैर्य खो कर खरीदे गए शेयर को बेच देते हैं। जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए यदि आप देख रहे हैं कि शेयर बाजार ऊपर उठ रहा है तो आप धैर्य बनाए रखें और अधिक दाम होने पर ही शेयर बेचे।

    अक्सर शेयर बाजार में शेयर के दामों को बढ़ाने तथा घटाने के लिए कई अफवाहें भी उड़ाई जाती हैं इसलिए अफवाहों से हमेशा बचकर रहें। किसी भी अफवाह को सुनकर केयर को ना ही खरीदें और ना ही बेचें।

    किसी भी कंपनी के शेयर में पैसे लगाने से पहले उस कंपनी के बारे में जांच कर ले और कंपनी का बहीखाता अवश्य देखें।

निष्कर्ष ( Conclusion)

आज के इस लेख में हमने आपको बताया कि शेयर मार्केट क्या है? (What is Share Market in hindi?) उम्मीद करते हैं कि आप शेयर मार्केट की बुनियादी चीजें समझ पाए होंगे। यदि आप किसी तरह का प्रश्न पूछना चाहते हैं तो कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Hey, I’m Indrajeet Singh Ranawat, A Part Time Blogger, YouTuber, Affiliate Marketer, And Founder Of UniqeBlog.Com And Uniqeblog.in. A Guy From The Crowded Streets Of India Who Loves To Eat, Both Food And Digital Marketing.

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap