WWW क्या है? हिंदी में जाने (World Wide Web vs Internet)

आज हम जानेंगे www या वर्ल्ड वाइड वेब क्या है ? बदलते जमाने के साथ इंटरनेट की डिजिटल लाइफ में हमारे लिए ऐसी कई जानकारियां होनी बहुत ही आवश्यक हो गईं हैं जिनके बिना हम अधूरे हैं

जिसकी वजह से सूचनाएं प्राप्त की जाती हैं। प्रायः हम सभी जब भी Google पर किसी वेबसाइट का नाम टाईप करते हैं तो www का इस्तेमाल करते हैं। जैसे की www.facebook.com. दरअसल जब इंटरनेट की शुरुवात हुई तब से ही इसका इस्तेमाल इंटरनेट users द्वारा किया जाता है।

तो दोस्तों हम अपने इस पोस्ट के माध्यम से आपके साथ ऐसी information share करते हैं जो आपके लिए useful hai। दोस्तों, internet की हेल्प से world wide web को तो हम सभी use करते हैं, पर क्या आपको पता है की www होता क्या है? कब और किसने बनाया ,उपयोग,विशेषताएं and all about वर्ल्ड वाइड वेब। दोस्तों इंटरनेट की दुनिया में वेबसाइट एक ऐसा माध्यम है

वर्ल्ड वाइड वेब WWW क्या है? 

www क्या है हिंदी में जाने

इसे विश्वव्यापी वेब के नाम से भी संबोधित किया जाता है। यह आपस में एक साथ जुड़े Hypertext दस्तावेजों को इंटरनेट द्वारा प्राप्त करने का एक system है।

1989 में CERN में काम करते हुए ,British वैज्ञानिक टीम बैनर्स ली ने वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार किया। यह विश्व भर में फैले हुए यूनिवर्सिटीज और संस्थानों में वैज्ञानिकों के बीच automatic sharing information की मांग को पूरा करने के लिए विकसित किया गया था।

असल में आज हमारे जीवन में इंटरनेट एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, आजकल थोड़ी सी जानकारी के लिए भी हम इंटरनेट पर निर्भर करते हैं जिसमे www ki अहम भूमिका है।

वर्ल्ड वाइड वेब इनफॉर्मेशन का एक बहुत बड़ा storage है जो की links के रूप में रहता है ।

www और इंटरनेट आपस में बहुत अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं ,और दोनो ही एक दूसरे पर निर्भर हैं।

दरअसल यह एक ऐसी technology है जिसके कारण विश्व भर के कंप्यूटर एक दूसरे से जुड़े हुए हैं ।

यह Hypertext के साथ मिलकर काम करता है। 

जब हम किसी वेबसाइट को open करना चाहते हैं तो browser इस वेबसाइट के पते को एड्रेस बार में उसका URL( uniform resource locator) भर देता है।

इस नाम की मदद से वह प्रोग्राम उस सर्वर तक पहुंचता है जहां वह फाइल स्टोर की गई है ,वह वेबपेज हमारे मोबाइल या कंप्यूटर ,स्क्रीन पर २

2ओपन या available हो जाती है। इस प्रकार उपयोगकर्ता किसी वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

वर्ल्ड वाइड वेब की विशेषताएं(features of the world wide web).

1. Hypertext information system

web page के documents में कई अलग अलग घटक होते हैं जिसमे text ,graphics ऑब्जेक्ट्स ये सभी एक दूसरे से connected होते हैं और इन सभी components को आपस में connect करने के लिए (Hypertext) का इस्तेमाल किया जाता है।

2. Distributed

वर्ल्ड वाइड वेब में सभी website एक दूसरे से कहीं न कहीं connect होते हैं, हालांकि सब में इनफॉर्मेशन अलग अलग होती हैं।ऐसी वेब साइट्स एक दूसरे से जुड़ी हुई होती हैं , जहां हम एक वेब साइट खोलकर उससे दूसरे web site से जुड़ सकते हैं ,इस work system को distributed system कहा जाता है।

3. Cross platform

cross platform का मतलब यह है की वेब पेज या वेब साइट किसी भी hardware या operating system पर काम कर सकता है।

4. Graphical interface

इस समय सभी वेबसाइट्स में text के अलावा audio,video सभी चीज मौजूद हैं। हाइपरलिंक्स से इनफॉर्मेशन को आसानी से देख सकते हैं और वेब पेज से जोड़ सकते हैं।dynamic websites में menu , command बटन आदि का use किया जाता है जिस से कार्य करने में आसानी होती है।

4. Dynamic

www dynamic है क्योंकि किसी भी पेज की information को कभी भी अपडेट किया जा सकता है इसके लिए किसी टेक्निकल सपोर्ट या अपडेट किए गए पेजेस को install करने की आवश्यकता नहीं होती है। 

इसमें किसी भी पेज को अपडेट करने के लिए केवल उसके HTML code में परिवर्तन करना आवश्यक होता है। वेब पेज पर अपडेट किए गए किसी भी पेज को access करने के लिए user को किसी नए सॉफ्टवेयर या browser ko install करने की आवश्यकता नहीं होती है ।

www पर बहुत सारी ऐसी वेब साइट्स हैं जो प्रत्येक दिन अपने पेजेस की सूचनाओं को अपडेट करते हैं।

Interactive – www interactive है।क्योंकि यह user को किसी भी पेज में मौजूद links ko select कर के एक से दूसरे वेब पेज पर jump करने की सुविधा उपलब्ध कराता है।

इसके अलावा world wide web user को किसी भी पेज के प्रकाशक से भी communicate करने की सुविधा देता है।

उदाहरण स्वरूप -: कुछ वेब पेजेस पर यूजर से फीडबैक लेने या ऑनलाइन ऑर्डर लेने के लिए interactive forms डिजाइन किए गए होते हैं।

5. Open standards and open source

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर कॉपीराइट मुक्त होता है की  कोई भी यूजर इस से सोर्स कोड ले कर अपनी आवश्यकता के अनुसार सुधार सकता है या फिर उसमे नए फीचर्स add कर सकता है। सोर्स कोड का use कर के नए प्रोडक्ट विकसित कर सकता है और शुल्क सहित उसको बेच सकता है। और इन सभी कामों पर किसी की कोई पाबंदी नही रहती है। हर information सभी के लिए मुफ्त हो इस सिद्धांत का पालन करता है । 

इस प्रकार के सॉफ्टवेयर के बदले में यूजर्स से किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। मगर, इन प्रोजेक्ट से बनाए गए नए प्रोडक्ट इस श्रेणी से बाहर होते हैं। जिन्हे डेवलपर या निर्माता शुल्क के साथ बेच सकता है।

इस तरह के प्रोजेक्ट उच्च गुणवत्ता के बाद भी अधिक सुरक्षित होते हैं और इन पर किसी व्यक्ति या संस्था का निजी नियंत्रण नही रहता है इसलिए यूजर के लिए कमर्शियल सॉफ्टवेयर की तुलना में ज्यादा निमत्रण मिलता है।

कुछ लोकप्रिय ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर linux ,PHP, phyton ya Apache Web server आदि हैं।

7. Web browser

web browser world wide web का एक एप्लीकेशंस सॉफ्टवेयर है। यह एक डिवाइस में इंस्टॉल्ड होकर रहता है… वेब ब्राउजर की मदद से हम इंटरनेट पर मौजूद बहुत सारे web pages को देख सकते हैं इसके अलावा ये उनके फाइलों और दूसरे contents जैसे ऑडियो वीडियो इमेजेस और texts का अनुवाद करता है और हमारे डिवाइस की स्क्रीन पर उसे दिखता है।वेब ब्राउजर का मुख्य कार्य www से जानकारी प्राप्त करना और उसे यूजर्स तक पहुंचाना या उपलब्ध करवाना है। 

आखरी शब्द – WWW क्या है?

तो दोस्तों ये थी हमारी जानकारी WWW क्या है? के विषय में जो आज हम आपके लिए लेकर आए थे। 

सभी स्टूडेंट्स से निवेदन हैं कि हमारे इस पोस्ट से आपको जो जानकारी मिली हो या अच्छी लगी हो तो अपने जानने वालों को शेयर करें और कमेंट कर के हमे भी बताए की आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी।

Hey, I’m Indrajeet Singh Ranawat, A Part Time Blogger, YouTuber, Affiliate Marketer, And Founder Of UniqeBlog.Com And Uniqeblog.in. A Guy From The Crowded Streets Of India Who Loves To Eat, Both Food And Digital Marketing.

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap